ओला कार और ड्राईवर के लिये योग्यता - भारत 2017

आप अपने वाहन को ओला कैब के साथ जोड़ने की इच्छा रखते हैं तो एक आसान सी प्रक्रिया को पूरा कर अपनी गाड़ी ओला कैब के साथ जोड़कर स्वयं का छोटा सा व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। ओला कैब के साथ अपना व्यापार प्रारम्भ करने के लिए आपको कम्पनी की कुछ तय शर्तों को पूरा करना होगा। सबसे पहले तो आपके पास एक अच्छी कंडीशन की टैक्सी नम्बर गाड़ी होनी चाहिये। टैक्सी नम्बर गाड़ी से मतलब है एक कमर्शियल व्हीकल, जिससे आप ओला कैब के साथ जुड़ सकें। कमर्शियल व्हीकल की नम्बर प्लेट पीले रंग की होती है।

ओला कैब के साथ जुड़ने के लिए कम्पनी द्वारा निम्नलिखित दिशा-निर्देश निर्धारित किये गये हैं:

1.    कैब चालक के रूप में जुड़ने के लिए व्यक्ति के पास कॉमर्शियल लाईसेन्स होना जरूरी है।
2.    वाहन पंजीकरण के लिए कम्पनी के क्षेत्रीय कार्यालय अथवा मुख्य कार्यालय में व्यक्तिगत सम्पर्क करें।
3.    कम्पनी में वाहन के आवश्यक दस्तावेजात् जमा कराएँ जिससे वाहन का रजिस्ट्रेशन ओला कैब के रूप में किया जा सके। सुपुर्द किये जाने वाले कागजातों में निम्नलिखित सम्मिलित हैं:-

  •     वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC)
  •     वाहन का इन्श्योरेन्स
  •     वाहन का परमिट
  •     व्यक्ति का फोटो पहचान-पत्र

4.    वाहन का पंजीकरण ओला कैब में करने से पूर्व कम्पनी प्रतिनिधि द्वारा वाहन की गुणवत्ता व स्थिति का परीक्षण एवं निरीक्षण किया जायेगा। यदि वाहन, कम्पनी द्वारा तय किये गये मापदण्डों को पूरा नहीं करता है तो ऐसे वाहन को ओला कैब के रूप में लिंक नहीं किया जायेगा।
5.    आपके पास एक आधुनिक स्मार्ट फोन होना आवश्यक है, जिसमें कम्पनी द्वारा संचालित ओला एैप को डाउनलोड किया जा सके।
6.    कम्पनी की वांछित औपचारिकताओं की पूर्ति के पश्चात् बैंक में एक चालू खाता खोलना होगा, जिससे कम्पनी राशि का भुगतान प्रत्यक्ष तौर पर व्यक्ति के खाते में कर सके।

वाहन पंजीकरण हेतु आवश्यक विधिक दस्तावेजात्:

वाहन को ओला कैब के साथ लिंक करने के लिये आपको निम्नलिखित कागजात की आवश्यकता होगी:-

1.    ड्राईवर के लिए:

फोटो पहचान-पत्र
निवास प्रमाण-पत्र
पुलिस जाँच प्रमाण-पत्र

2.    वाहन स्वामी के लिये:

एकल स्वामी होने पर प्रोपराईटरशिप फर्म के रुप में
यदि आप वाहन के एक मात्र स्वामी हैं और एकल स्वामी के रुप में ओला कम्पनी में अपने वाहन का पंजीकरण करवाना चाहते हैं तो आपको एक प्रोपराईटरशिप फर्म का गठन करना होगा। आप एक प्रोपराईटरशिप फर्म के तहत ही वाहन का पंजीकरण करवा सकेंगे। इसके लिये आपको:     
प्रोपराईटरशिप फर्म का सर्विस टैक्स पंजीकरण प्रमाण-पत्र,
फर्म के चालू खाते का विवरण और
पैन कार्ड प्रस्तुत करना होगा।    

साझेदार के रुप में

आप वाहन के एकल स्वामी हैं या किसी अन्य व्यक्ति के साथ संयुक्त स्वामित्व रखते हैं और वाहन का पंजीकरण साझेदारी फर्म के तहत करवाना चाहते हैं तो इसके लिये आपको प्रस्तुत करना होगा:     

  • पार्टनरशिप-डीड
  • रजिस्ट्रार ऑफ फर्म का पंजीकरण प्रमाण-पत्र
  • फर्म का पेन कार्ड
  • चालू बैंक खाते का विवरण
  • सर्विस टैक्स पंजीकरण प्रमाण-पत्र

प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी के रूप में:

ओला कैब के साथ यदि आप एक प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो इसके लिए जिन दस्तावेजात् की आवश्यकता होगी, उनका विवरण इस प्रकार है:

  • DSC (Digital Signature Certificate) और DIN (Director Identification Number) नम्बर
  • कम्पनी का मैमोरेण्डम-ऑफ-आर्टिकल
  • पेन-कार्ड
  • चालू बैंक खाते का विवरण
  • सर्विस-टैक्स नम्बर

ओला कैब में पंजीकरण कैसे करें:

    अपने वाहन को ओला कम्पनी में पंजीकृत कराने के लिए कम्पनी के क्षेत्रीय कार्यालय में सम्पर्क करें जहाँ ओला की टीम क्रमबद्ध प्रक्रिया का अनुसरण करने में आपका मार्गदर्शन करेगी, जिसमें सबसे पहले दस्तावेजों की जाँच, फिर कार और ड्राईवर का निरीक्षण तत्पश्चात् ड्राईवर को प्रशिक्षण और अन्त में निर्धारित इकरारनामा निष्पादित कर, डिवाइस प्रदान करना सम्मिलित है।
    इस सारी प्रक्रिया को पूर्ण करने में लगभग 2 से 3 घण्टे का समय लगता है। वाहन का पंजीकरण पूर्ण रूप से निःशुल्क होता है। व्यक्ति को कुछ राशि केवल मोबाइल डिवाइस और सिम के लिए भुगतान करनी होती है जोकि ओला कम्पनी द्वारा उपलब्ध कराई जाती है, जिससे आप अनजान सड़कों पर सुचारू रूप से वाहन का संचालन कर सकें।

ओला कैब से होने वाली आय:

    ओला कैब कुल बिल राशि का कुछ प्रतिशत अपनी फीस के रूप में चार्ज करती है, जिसकी गणना ओला एैप से की जाती है। इसके अतिरिक्त ओला कम्पनी द्वारा दिन के कुछ खास समय को पीक ऑवर्स की श्रेणी में रखा गया है जो सुबह 7 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक और शाम 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक का निर्धारित है। इन पीक ऑवर्स में ड्राईवर द्वारा किसी यात्री को उसके गन्तव्य स्थल तक ले  जाया जाता है तो कम्पनी द्वारा उसके खाते में कुछ तय बोनस राशि भी जोड़ दी जाती है। इसी प्रकार यदि किसी सवारी को एयरपोर्ट छोड़ा जाता है तो इसके लिये भी ड्राईवर को कुछ निर्धारित राशि बोनस स्वरूप प्राप्त होती है। तय चक्कर की संख्या पूरी करने पर ड्राईवर को एक अच्छी रकम बोनस के रूप में प्राप्त होती है। इस प्रकार ओला कैब आपको कम समय और कम निवेश में ज्यादा लाभ प्राप्त करने का अवसर देती है।

    व्यक्ति जिसने अपना वाहन ओला कैब से जोड़ा है उसके प्रतिदिन की अर्जित राशि का भुगतान आगामी दो कार्य दिवसों में सीधे तौर पर उसके बैंक खाते में जमा करा कर किया जाता है। यदि आप यह जानना चाहते हैं कि  ओला राईड के माध्यम से आपने कितनी राशि अर्जित की है तो इसकी जानकारी आप ड्राईवर एैप के माध्यम से या कम्पनी की वेबसाईट पर लॉग-इन करके प्राप्त कर सकते हैं। किसी प्रकार की कोई शंका या समस्या होने पर उसके समाधान के लिए आप ओला कार्यालय में सम्पर्क कर सकते हैं।

वाहन श्रेणी:

ओला कम्पनी ने अपने ग्राहको की सुविधा और उनके आर्थिक पक्ष को ध्यान में रखते हुए वैसे तो वाहन की अनेक श्रेणियाँ निर्धारित की हैं, जिनमें ओला मिनी, माइक्रो, प्राइम सिडान और प्राइम एस.यू.वी. प्रमुख हैं, लेकिन सामान्यतः ओला कैब की दो श्रेणियाँ ओला मिनी और ओला प्राइम अत्यधिक पसन्द की जा रही हैं:-

ओला मिनी जिसमें सिलेरियो, रिट्ज, लिवा, माइक्रा, वाइब, इण्डिका, विस्टा, ब्रिओ, पल्स, पुन्टो मॉडल की गाड़ियाँ मुख्य हैं। वहीं ओला प्राइम में अरटिगा, स्विफ्ट डिजायर, ईटीओस, इण्डिगो व अमेज मॉडल की गाड़ियाँ सम्मिलित की गई हैं।

 

 

क्या यह लेख उपयोगी था?
0 में से 0 के लिए उपयोगी रहा

टिप्पणियां

0 टिप्पणियां

कृपया टिप्पणी करने के लिए साइन इन करें करें.